मायावती ने कह दिया साफ-साफ, BSP पूरे देश में कहीं नहीं करेगी कांग्रेस के साथ गठबंधन

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को बड़ा झटका दिया है. मायावती ने साफ कर दिया है कि उनकी पार्टी पूरे देश में कहीं भी कांग्रेस पार्टी के साथ गठबंधन में शामिल नहीं होंगी. मायावती ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन अकेले ही भाजपा को हराने में सक्षम है. 

बसपा सुप्रीमो के इस ऐलान के साथ ही यूपी में भी सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस के शामिल होने की अटकलों पर विराम लग गया. उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनावों के लिए सपा और बसपा का गठबंधन है. इसमेें समाजवादी पार्टी यूपी की 37 सीटों और बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बीच-बीच में कहते आए हैं कि इस गठबंधन में कांग्रेस भी शामिल है. 

मायावती ने कहा कि सपा और बसपा का गठबंधन दोनों तरफ से आपसी सम्मान व पूरी नेक नीयत के साथ काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड व मध्य प्रदेश में यह ‘फर्स्ट व परफेक्ट एलायन्स’ है, जो सामाजिक परिवर्तन की जरूरतों को भी पूरा करता है.

मायावती ने कहा कि बसपा से गठबंधन करने के लिए कई दल आतुर हैं, लेकिन थोड़े से चुनावी लाभ के लिए हमें ऐसा कोई काम नहीं करना है जो पार्टी मूवमेन्ट के हित में बेहतर नहीं है. 

कांग्रेस के साथ गठबंधन न होने को लेकर बीएसपी सुप्रीमो का एक बड़ा कारण यह भी हो सकता है कि चुनावों में उनकी पार्टी का वोट बैंक कांग्रेस और अन्य दलों को आसानी से ट्रांसफर हो जाता है लेकिन उनका वोट बसपा को नहीं मिलता. मायावती भी यह कहती रही हैं. 

Related posts

Leave a Comment