केजरीवाल से गठबंधन को बेकरार हैं राहुल, 52000 कार्यकर्ताओं से फोन पर ली राय

दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन की संभावनाएं अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुई हैं क्योंकि कांग्रेस ने इस मुद्दे पर पार्टी की राज्य इकाई के नेताओं की राय जानने के बाद अब पार्टी के कार्यकर्ताओं की राय लेने का काम शुरू कर दिया है। बुधवार शाम से कांग्रेस की दिल्ली इकाई के उन 52 हजार कार्यकर्ताओं को फोन किये जा रहे हैं जोकि राहुल गांधी के शक्ति मोबाइल एप पर पंजीकृत हैं। ऑटोमेटेड कॉल्स में IVR सिस्टम के जरिये की जा रही राय में कार्यकर्ताओं से पूछा जा रहा है कि क्या वह आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन चाहते हैं या नहीं। इस कॉल में उन्हें हाँ या ना चुनने का विकल्प वाला बटन दबाना है और उनकी राय दर्ज हो जायेगी।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस से गठबंधन नहीं होने पर भड़के केजरीवाल, कहा- उम्मीदवार जमानत गंवा बैठेंगेदिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने इस बारे में कहा है कि मैंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित और राज्य पार्टी इकाई के सभी कार्यकारी अध्यक्षों की राय ली है और अब सभी कार्यकर्ताओं की राय ली जा रही है। इस रायशुमारी के परिणाम कांग्रेस अध्यक्ष को बता दिये जाएंगे। उन्होंने यह भी साफ किया कि यदि आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन होता है तो वह सिर्फ लोकसभा चुनावों के लिए ही होगा और पार्टी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव अपने बलबूते ही लड़ेगी। चाको का कहना है कि रायशुमारी का काम जल्द पूरा हो जायेगा और उसी के बाद कुछ फैसला होगा।

Related posts

Leave a Comment